हमारे बारे में

            केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड सूचना और प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत एक संस्था है। यह संस्था चलचित्र अधिनियम १९५२ के तहत जारी किये गए प्रावधानों के अनुसरण करते हुए फिल्मों के सार्वजनिक प्रदर्शन का नियंत्रण करता है।

केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड द्वारा फिल्मों को प्रमाणित करने के बाद ही भारत में उसका सार्वजनिक प्रदर्शन   कर सकते है।

बोर्ड में केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त अध्यक्ष एवं गैर-सरकारी सदस्यों को शामिल किया गया है। बोर्ड का मुख्यालय मुंबई में स्थित है और इसके नौ क्षेत्रीय कार्यालय है जो मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बैंगलूर, तिरुवनंतपुरम, हैदराबाद, नई दिल्ली, कटक और गुवहाटी में स्तिथ है।
 क्षेत्रीय कार्यालयों में सलाहकार पैनलों की सहायता से फिल्मों का परीक्षण करते है। केंद्र सरकार द्वारा समाज के विविद स्तर के व्यक्तियों को समावेश करते हुए दो वर्ष की कालावधि के लिए इन पैनल सदस्यों का नामांकन करते है। 

चलचित्र अधिनियम, 1952, चलचित्र (प्रमाणन) नियम,1983 तथा 5(ख) के तहत केन्द्र सरकार द्वारा जारी किए गए मार्गदर्शिका के  अनुसरण करते हुए प्रमाणन की कार्यवाही की जाती है।

फिल्मों को चार वर्गों के अन्तर्गत प्रमाणित करते है

’अ’-  अनिर्बन्धित सार्वजनिक प्रदर्षन
’व’-  वयस्क दर्षकों के लिए निर्बन्धित
’अव’-  अनिर्बन्धित सार्वजनिक प्रर्दषन के लिए किन्तु  12 वर्ष से       
        कम आयु के बालक/बालिका को माता-पिता के मार्गदर्षन के साथ फिल्म देखने की चेतावनी के साथ 
 ’एस’- किसी विषिष्ठ व्यक्तियों के लिए निर्बन्धित